कोरोना संकट के बीच देश लॉकडाउन की गंभीर स्थिति से गुजर रहा है। इस बीच भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने एक चौंकाने वाला खुलासा किया है। कप्तान कोहली ने इंस्टाग्राम लाइव पर सुनील छेत्री को बताया कि एक समय उनके पिता से राज्य क्रिकेट टीम में चयन के लिए पैसे मांगे गए थे। कोहली ने बताया कि जब उन्हें राज्य स्तर पर चुना जाना था, तो कोई आगे आएगा और अपने पिता को बताएगा कि चयन में कोई समस्या नहीं है, लेकिन इसके लिए कुछ अतिरिक्त करना होगा।

loading...

"कोच के रिश्वत का मतलब समझा गया था": कोहली ने आगे कहा कि यह पहले से ही समझा गया था कि अतिरिक्त साधन क्या है। कोहली ने कहा कि उस समय मैं तंग आ गया था और बहुत रोया था। लेकिन पिता ने मेरी ओर देखकर हताश होकर कहा कि बेटा तुम वो करो जो अब तक कोई नहीं कर सका। उन्होंने इस गाँठ को हमेशा के लिए बांध दिया। गौरतलब है कि सुनील छेत्री लॉकडाउन के दौरान #ElevenonTen द्वारा एक श्रृंखला चला रहे हैं। जिसमें उनके पहले मेहमान विराट कोहली थे। उन्होंने इस चैट में सनसनीखेज खुलासा किया।



कोहली ने कहा कि उनके पिता ने कोच से साफ कर दिया था कि उनका बेटा जो भी करेगा अपने दम पर करेगा। कोहली ने छेत्री की इस चैट में बताया कि वह एक समय में सचिन तेंदुलकर के पैडल स्कूप को चुराना चाहता है। छेत्री ने उनसे पूछा कि अगर आपको आखिरी गेंद पर तीन रन चाहिए, तो कौन गेंदबाज वकार यूनुस और शेन वार्न को चुनेगा। कोहली ने यूनुस का नाम लेते हुए कहा कि उन्हें भरोसा था कि वह यूनुस की गेंद पर प्रहार करेंगे।