इस खिलाड़ी को कहा जाता है टेस्ट मैचों की 'द वॉल', जानिए इसका पूरा सच Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। आज हम आपको एक ऐसे क्रिकेटर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसको टेस्ट मैचों की द वॉल के नाम से जाना जाता है। इस खिलाड़ी ने टेस्ट में इतना शानदार प्रदर्शन करके दिखाया था की हर कोई उनकी बल्लेबाजी का दिवाना हो जाता था। इस खिलाड़ी विदेशी दौरे के समय भारतीय क्रिकेट टीम के लिए टेस्ट मैचों में इतने रिकॉर्ड बना दिए है की उनका यह रिकॉर्ड तोड़ना आसान काम नहीं है। भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान राहुल द्रविड़ आज अपना 46 वां जन्मदिन मना रहे है। 


राहुल द्रविड़ का जन्‍म 11 जनवरी 1973 को मध्‍यप्रदेश में हुआ और हुआ और द्रविड़ ने अपने क्रिकेट करियर में लगभग 16 साल तक देश के लिए खेले है। अपने इस ​करियर में द्रविड़ ने 164 टेस्‍ट, 344 वनडे और एक टी20 मैच खेले हैं। राहुल द्रविड़ ने 2003 के वर्ल्‍डकप में विकेटकीपर की जिम्‍मेदारी लेकर भारत के लिए कुछ समय तक अच्छी विकेटकीपिंग तक करी थी। लेकिन इसके बाद राहुल ने टेस्ट में ऐसी बल्लेबाजी करके दिखाई की कई दिग्गज गेंदबाज उनका विकेट ​लेने के लिए तरस्ते थे। राहुल को टेस्ट में आउट करना बहुत मुश्किल काम हो गया था और राहुल के बाद जमने के बाद आउट होने का नाम तक नहीं लेते थे। राहुल के नाम सबसे बड़ी पार्टनरशिप करने का रिकॉर्ड भी है।

राहुल द्रविड़ ने क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद भी कोच के रूप में भारतीय टीम को अपनी सेवांए देने का काम जारी रखा है। राहुल द्रविड़ ने U-19 के कोच का पद संभाला और  भारतीय टीम को U-19 वर्ल्‍डकप में जीत दिलाने में अपना योगदान दिया। राहुल का कप्तान के रूप में विवादों से भी नाता रहा है लेकिन राहुल ने भारतीय क्रिकेट के लिए शानदार योगदान दिया है। Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures