आईसीसी महिला टी20 विश्व कप 2020 का फाइनल मुकाबला भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया। जिसमे अपने घर पर खेल रही कंगारू टीम ने भारत को 185 रन की चुनौती दी थी, इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय महिला टीम 19.1 ओवर में 99 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। टीम इंडिया पर दबाव साफ दिखा और वह अपने 4 प्रमुख विकेट गंवाने तक इस दबाव में घिरती ही चली गई।

loading...

आपकी जानकारी के लिए बता दे की भारत के पास एलिसा हीली (75) और बेथ मूनी (78*) की शानदार बल्लेबाजी का कोई जबाव नहीं दिखा और इन दोनों की बैटिंग मैच में निर्णायक साबित हुई। पूरी भारतीय टीम मिलकर भी इन दोनों बल्लेबाजों जितना स्कोर भी नहीं बना पाई।

महिला टी-20 विश्वकप 2009, 2010 और 2018 में भारतीय टीम सेमीफाइनल में पहुंची थी, लेकिन हर बार टीम को सेमीफाइनल से बाहर होना पड़ा, लेकिन इस बार भारतीय महिला टीम पहली बार महिला टी-20 विश्वकप फाइनल में पहुंची। लेकिन ट्रॉफी अपने नाम नहीं कर सकी।

इस फाइनल मैच के बाद हरमनप्रीत ने कहा जिस तरीके से हमने लीग स्तर पर मैच खेला। वह काफी अनोखा था। दुर्भाग्य से आज के मैच के दौरान हमने कुछ कैच को छोड़ दिया और आने वाला एक से डेढ़ साल हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है। हमारा भविष्य काफी अच्छा है और हमें खुद पर भरोसा बनाए रखना होगा।