loading...

अयोध्या विवाद का निपटारा करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन को राम लला विराजमान को दे दिया था। इसके साथ ही सरकार को आदेश दिया था कि मस्जिद के लिए पांच एकड़ भूमि दी जाए। इसके बाद से ही सरकार दोनों निर्देशों को मानने की तैयारी कर रही थी। पीएम नरेंद्र मोदी ने हाल ही में राम मंदिर ट्रस्ट का ऐलान किया। वहीं योगी सरकार ने भी मस्जिद के लिए जमीन दे दी। हालांकि न्यूज 18 मीडिया की खबर के मुताबिक वो जमीन तो विवादित निकली। उस पर पहले से ही दो मुकदमे चल रहे हैं।

Image result for Yogi government

रौनाही इलाके में दी है जमीन

योगी सरकार ने मस्जिद के लिए जिस पांच एकड़ भूमि का चयन किया वो अयोध्या में रौनाही इलाके में है। यहां के धन्नीपुर में 5 एकड़ भूमि मस्जिद के लिए दी गई है। हालांकि न्यूज 18 मीडिया की पड़ताल के मुताबिक ये जमीन तो विवादित है। पता चला है कि इस जमीन के तीन दावेदार हैं, इसमें एक कृषि विभाग भी है. जमीन पर दावेदारी को लेकर 2 मुकदमे चल रहे हैं।

Image result for Yogi government

अलग-अलग लोग करते हैं दावा

इस जमीन पर अलग-अलग लोग अपना दावा करते हैं। एक दावेदार कृष्णा देवी हैं जो पाकिस्तान से आए ज्ञानचंद पंजाबी की पत्नी हैं। वहीं दूसरा दावा भूमि की देखरेख करने वाले उदित सिंह हैं जिन्होंने कब्जेदार और आसामी के तौर पर अपना दावा ठोक दिया। वहीं सरकार ने इस भूमि को कृषि विभाग को दे दिया। इसके बाद कृष्णा देवी ने सरकार पर केस कर दिया था। उनकी मौत के बाद उनकी बेटी केस लड़ती हैं। वहीं दूसरी तरफ उदित सिंह के पुत्र हरिनाथ सिंह आदि का भी इस भूमि पर अपना दावा है। वो भी इस जमीन पर अपने दावे के साथ केस लड़ रहे हैं।