loading...

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनता की समस्याओं को सुनने के लिए जनता दरबार लगाते हैं। इस दरबार में आम लोग सीधे ही सीएम से मुलाकात कर सकते हैं। बुधवार को उन्होंने गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर में अपना जनता दरबार लगाया हुआ था। इस दौरान वो लोगों की समस्याएं सुन रहे थे कि अचानक दो लड़कियां उनको देखकर रोनी लगीं। इसके बाद क्या हुआ आइए जानते हैं।

इस वजह से रोने लगी लड़कियां

योगी आदित्यनाथ के बुधवार को गोरखनाथ मंदिर में लगे जनता दरबार में कई फरियादी आए थे। इस दौरान जब वो जनता की दिक्कतों को सुन रहे थे, अचानक उनको देखकर दो लड़कियां रोने लगीं। दोनों की उम्र आठ और 13 साल की थी। सीएम ने उनसे रोने का कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि सौतेला पिता उनके साथ छेड़खानी करता है और उनके मकान पर कब्जा करना चाहता है।


जनता दरबार में ही बैठा था आरोपी

योगी ने जब लड़कियों से पूछा कि वो कौन है तो उन्होंने पास ही में खड़े आरोपी रामनारायण गुप्ता की ओर इशारा किया। बड़ी बात है कि वो योगी को पहले ही अपनी झूठी फरियाद सुना चुका था और पुलिस पर मकान पर कब्जा न दिलाने का आरोप लगा रहा था। योगी को जैसे ही पूरे मामले का पता लगा तो वो नाराज हो गए। इतने में रामनारायण वहां से खिसकने लगा तो योगी ने पुलिस को उसको गिरफ्तार करने का आदेश दे दिया। इसके बाद उसको जेल भेज दिया गया है।