loading...

महाराष्ट्र में शिवसेना गठबंधन की सरकार चला रही है। इस गठबंधन में उसके साथ कांग्रेस और एनसीपी हैं। शिवसेना ने भारतीय जनता पार्टी से चुनाव के बाद अपनी राहें अलग कर ली थीं। इसके बाद से ही उद्धव ठाकरे सीएम बनकर सरकार चला रहे हैं। हाल ही में गठबंधन सरकार के मंत्री ने महाराष्ट्र में मुस्लिमों को आरक्षण देने का ऐलान किया था। पहली बार उद्धव ठाकरे ने इस मामले पर चुप्पी तोड़ दी है। उन्होंने मुस्लिम आरक्षण के सवाल पर ये जवाब दिया।

मंत्री नवाब मलिक ने किया था ऐलान

मुसलमानों को महाराष्ट्र में पांच फीसदी आरक्षण देने का ऐलान गठबंधन सरकार के मंत्री नवाब मलिक ने किया था। उन्होंने शनिवार को बयान दे दिया था कि महाराष्ट्र में सरकार मुस्लिमों को शैक्षणिक संस्थानों में पांच प्रतिशत आरक्षण देना सुनिश्चित करेगी। उन्होंने कहा था कि ये पूरी प्रक्रिया कानून के मुताबिक पूर्ण की जाएगी। इसके बाद से ही भाजपा इस कदम का विरोध कर रही थी।

जानें उद्धव ठाकरे ने दिया क्या जवाब

दक्षिणी मुंबई में सीएम उद्धव ठाकरे विधान भवन में मीडिया को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान पत्रकारों ने उनसे पूछा कि क्या वो राज्य में मुसलमानों को आरक्षण देंगे। इस सवाल पर सीएम ने कहा कि मुस्लिमों को पांच फीसदी आरक्षण देने का मामला अभी आधिकारिक रूप से मेरे सामने नहीं आया है। उद्धव बोले कि हमें अभी इस मुद्दे पर अपना रुख तय करना है।