भारतीय जनता पार्टी की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को मध्य प्रदेश के भोपाल से रक्षा मंत्रालय की कमेटी का सदस्य बनाया गया है। उनके सदस्य बनने के बाद से विपक्ष के निशाने उन पर शुरू हो गए हैं। साध्वी प्रज्ञा मालेगांव बम विस्फोट हमले में आरोपी हैं तो ऐसे में उन्हें रक्षा मंत्रालय की कमेटी का सदस्य कैसे बनाया जा सकता है? 

loading...

अगर आप इस मुद्दे से परीचित नहीं हैं तो आज हम आपको इसी बारे में बताने जा रहे हैं। 

मालेगांव ब्लास्ट

महाराष्ट्र में नासिक जिले के मालेगांव में 29 सितम्बर 2008 को खौफनाक बम ब्लास्ट हुआ था। इस धमाके में 7 लोगों की जान गई और 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे।  

ये धमाका तब हुआ जब रमजान का महीना चल रहा था और बहुत से लोग नमाज पढ़ने जा रहे थे। इस मामले में साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, स्वामी असीमानंद और लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित को मुख्य आरोपी बनाया गया था। 

इस केस में अब तक 106 गवाहों के बयान हो चुके हैं।  उस वक्त उनके खिलाफ आरोप तय किए गए थे. तब उन्होंने अदालत से गुजारिश की थी कि वे दोषी नहीं हैं।