एक ऎसी जगह जहाँ होती है इतनी लम्बी रात कि... Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

न्यूज़ डेस्क। आमतौर पर रात की बात करे तो वह 12 घंटे की होती है। जिसमें इंसान नींद लेकर अपने शरीर को आराम देता है। साथ ही रात को लेकर कहा जाता है कि पृथ्वी सूर्य का एक चक्कर पूरा करके वापस अपनी पूर्व स्थिति में आ जाती है जिसे एक रात कहा जाता है लेकन दोस्तों आज आपको एक ऐसी जगह के बारे में बता रहे हैं। जहां पर बहुत लंबी रात होती है। लोग यहां पर रात को ही काम करते है। बच्चे भी रात को ही स्कूल जाते है। क्योंकि यहां पर कई हफ्तों तक रात ही रहती है। रूस के उस हिस्से में यह होता है।


जो अंटार्कटिका से जुड़ा हुआ है। और जिस शहर मे यह नजारा देखने को मिलता है उस शहर का नाम मरमांस्क है। बता दें कि इस गांव में चालीस दिन बिना सूरज देखे ही बिताने पड़ते हैं। इस शहर को सनलैस सिटी के नाम से भी जाना जाता है। जिसका मतलब होता है बिना सूर्या को देखे काम करना। यह रूस का एक प्रमुख बंदरगाह भी है। जिसे प्रथम विश्व युद्ध के दौरान इसे बसाया गया था। यहं पर बहुत ही अधिक ठंड पड़ती है।

यहा की खासियत यह है कि यहां गर्मियों में पूरे 60 दिनों तक रात ही नहीं होती है। लेकिन सर्दिया आते आते ठीक उसके विपरित कार्य होनें लगता है। जब सर्दी का मौसम होता है तो यहां पर रात ही रहती है लोग कई दिनों तक सूर्य के दर्शन नहीं करते हैं। यहां पर सरकार ने उजाले के प्रबंध के लिए करीब एक लाख खंभे लगा रखे हैं। साथ ही बता दे कि यहा पर करीब तीन लाख लोगों की आबादी रहती है।

इस शहर को देखने के लिए पूरे विश्व से आते हैं। यहां की रातों को पोलर रातों में बाटां गया है। जहां 22 मई से लेकर 22 जुलाई तक रात रहती है। इसके बाद दिन निकलता है। यहां पर लोगों को इस बात का पता ही नहीं रहता है कि कब कौनसा वार है। और क्या तारीख है। जह वाकया वाकई दिलचस्प होता है। Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures