भाई दूज 2018: इस पूरी विधि से करें हर बहन भाई के तिलक होगा शुभ Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क: दिवाली के शुभ पर्व की रौनक हर तरफ देखने को मिल रही है पांच दिवसीय चलने वाले इस त्योहार को अलग-अलग तरह से सेलिब्रेट किया जाता है जहां धनतेरस से इस पर्व की शुरुआत होती है तो पांचवे दिन आखिरी मे भाई दूज को पर्व का मनाया जाता है जो भाई-बहन के खूबसूरत रिश्ते मे मिठास भरता है इस साल यह पर्व 9 नवंबर को हो ऐसे मे हर बहन अपनी भाई की लंबी उम्र के लिए भाई दोज की पूजा करती है साथ ही रोली और चावल से भाई के तिलक लगाती है  ये त्योहार रक्षाबंधन की तरह भाई बहन के बेहतरीन प्यार के प्रतीक का त्योहार है


अगर इस साल भाई दोज के शुभ मुहुर्त की बात हो तो...

रुप चौदस पर चेहरे को चमकाने का असरदार तरीका है ये उबटन

Old Post Image

मुहूर्त प्रारंभ- दोपहर 1 बजकर 10 मिनट

मुहूर्त समाप्त- दोपहर 3 बजकर 27 मिनट

मुहूर्त अवधि- 2 घंटे 17 मिनट है

अगर आप अपने भाई के तिलक कर रही है इस पूरी विधि के साथ अपने भाई के तिलक करें....

Old Post Image

सबसे पहले बहने चावल के आटे से चौक तैयार करें । इस चौक पर भाई को बैठाएं और फिर उनके हाथों से पूजा करें इसके लिए भाई की हथेली पर आप चावल का घोल लगाएं इसके बाद इसमे सिंदूर लगाकर कद्दु के फूल, पान, सुपारी, मुद्रा आदि हाथों पर रख कर धीरे-धीरे हाथों पर पानी छोड़ते हुए मंत्र बोलें और फिर बहने अपने भाई की आरती उतारें और फिर अपने भाई की कलाई पर कलावा बांधे। भाई का मुंह मीठा कराने के बाद भाई को मिश्री खिलाए। शाम के समय बहनें यमराज के नाम से चौमुख दीया जलाकर घर के बाहर दीए का मुख दक्षिण दिशा की ओर करके रखें । इस तरह से आप पूरें विधान के साथ भाई दोज की इस रस्म को करें ऐसा करना बेहद शुभ होगा ।

जीभ पर गंदगी को दूर करने के असरदार घरेलू तरीके

  Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures