शिवपुराण के अनुसार, यदि आप मरने से पहले ये संकेत पाते हैं, तो उन्हें समझें या आप मर सकते हैं

loading...

हिंदू धर्म में कई चीजें हैं जिन्हें अगर अपनाया जाए तो जीवन सफल हो सकता है। ऐसे में आज हम आपको उन संकेतों के बारे में बताने जा रहे हैं जो मरने से पहले पाए जाते हैं।



गिद्ध, कबूतर या कौआ: - शिव पुराण के अनुसार, जब गिद्ध, कबूतर या कौआ, उस व्यक्ति के सिर पर बैठता है, जो एक महीने के भीतर मर जाता है।

शरीर का पीला या सफेद होना: - शिव पुराण के अनुसार, जब किसी व्यक्ति का शरीर अचानक पीला या सफेद हो जाता है और लाल निशान पड़ जाते हैं, तो उस व्यक्ति की मृत्यु 6 महीने में हो जाती है।

शरीर के अंग काम नहीं करते: - शिव पुराण के अनुसार शरीर के अंग जैसे आंख, मुंह, कान और जीभ ठीक से काम नहीं करते हैं, इसलिए मृत्यु 6 महीने के भीतर हो जाती है।



चंद्रमा या सूर्य के चारों ओर का घेरा: शिव पुराण के अनुसार, यदि कोई चंद्रमा या सूर्य के चारों ओर लाल या काला घेरा देखता है, तो उस व्यक्ति की मृत्यु 15 दिनों में हो जाती है।

सितारे नहीं देखे जाते: - शिव पुराण के अनुसार यदि व्यक्ति तारों को ठीक से नहीं देखता है, तो वह व्यक्ति एक महीने में मर जाता है।

छाया दिखाई न देना: - शिव पुराण के अनुसार, यदि स्वयं की छाया तेल, घी, पानी या दर्पण में नहीं देखी जाती है, तो वह 6 महीने में मर जाती है।



हाथ का फड़कना: - शिव पुराण के अनुसार जब किसी व्यक्ति का बायां हाथ लगातार फड़फड़ाता है और तलवे (तालु) सूख जाते हैं, तो वह एक महीने में मर जाता है।

अग्नि का प्रकाश: शिव पुराण के अनुसार, यदि अग्नि का प्रकाश ठीक से नहीं देखा जाता है, तो मृत्यु 6 महीने के भीतर होती है।